Daily Current Affairs 3 फरवरी 2023 PDF Download

एंजेल टैक्स क्या है?

इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 56 (2) (vii b) को एंजेल टैक्स (Angel Tex) कहा जाता है। ये टैक्स स्टार्टअप्स पर लगाए जाते हैं। मान लीजिये कि एक स्टार्टअप RRR एक व्यक्ति Y को एक लाख शेयर बेचता है। एक शेयर की बिक्री कीमत 5000 रुपये है। अब RRR को 50 Crore प्राप्त होते हैं। मान लीजिये कि शेयर का वास्तविक बाजार मूल्य 2000 रुपये प्रति शेयर है। तो 20 Crore रुपये वास्तविक बाजार मूल्य है। RRR ने 30 Crore रुपए का मुनाफा कमाया। तो RRR को 30 crore रुपये पर एंजेल टैक्स (Angel Tex) देना होगा!

एंजेल टैक्स (Angel Tex) ख़बरों में क्यों है?

केंद्रीय (Central) बजट 2023 के दौरान, वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने एंजेल टैक्स (Angel Tex) में संशोधन का प्रस्ताव रखा। अब, स्टार्टअप्स द्वारा प्राप्त की जाने वाली इक्विटी राशि आयकर के अधीन होगी, न कि एंजल टैक्स (Angel Tex)  के अधीन। मतलब, पूरे 50 Crore रुपये, यानी स्टार्टअप को शेयर बेचकर मिलने वाली कुल रकम पर इनकम टैक्स लगता है! इससे पहले, केवल 30 Crore रुपये ही करों के अधीन थे।

बदलाव के बारे में स्टार्टअप क्या कह रहे हैं?

इस कदम से स्टार्टअप निराश हैं। स्टार्टअप्स के ज्यादातर निवेशक यानी शेयर खरीददार विदेशों के हैं। पहले से ही स्टार्टअप निवेश घट रहा है। 2022 में, यह 3  प्रतिशत  तक गिर गया। एंजेल टैक्स (Angel Tex) में नया बदलाव स्टार्टअप निवेश को और प्रभावित करने वाला है।

Leave a Comment